दुर्गा मंत्र / पैसा बनाने का 4 सिक्रेट मंत्र जल्दी से पढ़ लो

दुर्गा मंत्र Durga Mantra

मां दुर्गा मंत्र पढ़ते ही पैसों की बारिश क्या आप भी जल्दी सफल होना चाहते हैं करोड़पति बनने का सपना है खूब सारा पैसा कमाना चाहते हैं तो आप सही जगह पर आए है। इस लेख को 2 मिनट समय देकर ध्यान से ही पढ़िए गा दुर्गा मंत्र

4 मंत्र करोड़पति बनने का दुर्गा मंत्र

नंबर (1.) मां दुर्गा मंत्र

👉 ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।

नंबर (2.) मां दुर्गा मंत्र

👉 ॐ सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते !

नंबर (3.) मां दुर्गा मंत्र

👉 सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके। शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते।।

नंबर (4.) मां दुर्गा मंत्र

👉 नवार्ण मंत्र ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै’ का जाप अधिक से अधिक अवश्‍य करें।

  • इन सभी मंत्रों का जाप हमारे साथ 11 या 21 या 108 बार चाप जरूर करे आगर आप इतना धुर आ गाय है तो जरूर कम से कम 11 बार इन सभी मंत्र को पढ़ के ही जाना तभी आपके उपर काम करे गा इस लिए जल्दी से दुर्गा मंत्र पढ़ ले

धन जल्दी प्राप्ति करने के लिऐ दुर्गा मंत्र

👉 सर्वाबाधाविनिर्मुक्तो धनधान्यसुतान्वित:, मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशय:

इस मंत्र को अगर आप चाप करते हो तो धन से जुड़ी समस्या खत्म हो जाएगी ज्यादा प्रभाव कारी होता है नवरात्रि के दौरान

दुर्गा मां का सबसे शक्तिशाली मंत्र

👉 या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता,नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मीरूपेण संस्थिता,

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु तुष्टिरूपेण संस्थिता,

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु मातृरूपेण संस्थिता,

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु दयारूपेण संस्थिता,

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु बुद्धिरूपेण संस्थिता,

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु शांतिरूपेण संस्थिता,

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

दुर्गा पूजा कब है जाने 2023 का जानकारी

दुर्गा पूजा 2023 में अक्टूबर दिनांक 15 अक्टूबर 2023 को नवरात्रि प्रारंभ होगी यह नवरात्रि 9 दिन तक चलेगी । अक्टूबर 2023 को नवरात्रि खत्म होगा उसी दिन विजयादशमी है

रक्षा पाने के लिए दुर्गा मंत्र

👉 शूलेन पाहि नो देवि पाहि खड्गेन चाम्बिके।घण्टास्वनेन न: पाहि चापज्यानि:स्वनेन च॥

माँ दुर्गा आरती Durga Maa Aartii

👉 जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी। तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी।।

जय अम्बे गौरी,…।

मांग सिंदूर बिराजत, टीको मृगमद को। उज्ज्वल से दोउ नैना, चंद्रबदन नीको।।

जय अम्बे गौरी,…।

कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै। रक्तपुष्प गल माला, कंठन पर साजै।।

जय अम्बे गौरी,…।

केहरि वाहन राजत, खड्ग खप्परधारी। सुर-नर मुनिजन सेवत, तिनके दुःखहारी।।

जय अम्बे गौरी,…।

कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती। कोटिक चंद्र दिवाकर, राजत समज्योति।।

जय अम्बे गौरी,…।

शुम्भ निशुम्भ बिडारे, महिषासुर घाती। धूम्र विलोचन नैना, निशिदिन मदमाती।।

जय अम्बे गौरी,…।

चण्ड-मुण्ड संहारे, शौणित बीज हरे। मधु कैटभ दोउ मारे, सुर भयहीन करे।।

जय अम्बे गौरी,…।

ब्रह्माणी, रुद्राणी, तुम कमला रानी। आगम निगम बखानी, तुम शिव पटरानी।।

जय अम्बे गौरी,…।

चौंसठ योगिनि मंगल गावैं, नृत्य करत भैरू। बाजत ताल मृदंगा, अरू बाजत डमरू।।

जय अम्बे गौरी,…।

तुम ही जग की माता, तुम ही हो भरता। भक्तन की दुःख हरता, सुख सम्पत्ति करता।।

जय अम्बे गौरी,…।

भुजा चार अति शोभित, खड्ग खप्परधारी। मनवांछित फल पावत, सेवत नर नारी।।

जय अम्बे गौरी,…।

कंचन थाल विराजत, अगर कपूर बाती। श्री मालकेतु में राजत, कोटि रतन ज्योति।।

जय अम्बे गौरी,…।

अम्बेजी की आरती जो कोई नर गावै। कहत शिवानंद स्वामी, सुख-सम्पत्ति पावै।।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी।

  • इसे भी पढ़े see more

FAQ

Q1. मां दुर्गा का शक्तिशाली मंत्र कौन सा है?

उतर: तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम्॥ है

Q2. मां दुर्गा का मूल मंत्र क्या है?

उतर : मां दुर्गा का मूल मंत्र ॐ श्री दुं दुर्गायै नमः है

Q3. दुर्गा मां का बीज मंत्र क्या है?

उतर: मां दुर्गा का बीज मंत्र- नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।  

 

 

Leave a comment